About Us

खेल एवं युवा कल्याण विभाग

खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा भारत सरकार एवं राज्य सरकार की योजनाओं का सम्यक् रूप से संपादन किया जा रहा है। उपलब्ध वित्तीय एवं प्रशासनिक संसाधनों से संपूर्ण छत्तीसगढ़ राज्य में खेल एवं युवा कल्याण विभाग समस्त गतिविधियों का सुचारू रूप से संचालन कर रहा है। विभाग का यह प्रयास होगा कि उपलब्ध वित्तीय एवं प्रशासनिक संसाधनों का समुचित उपयोग कर राज्य के समस्त प्रतिभावान खिलाडि़यों एवं राज्य के युवाओं को उनसे संबंधित विभिन्न गतिविधियों में अधिकाधिक अवसर एवं सुविधाएं मुहैया कराई जा सके। इस उद्देश्य से हॉकी एवं तीरंदाजी की गैर छात्रावासी खेल अकादमी रायपुर का संचालन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर में ही हॉकी एवं तीरंदाजी की छात्रावासी खेल अकादमी का भी शुभारंभ किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र के खिलाडि़यों की प्रतिभा को निखारने तथा ग्रामीण क्षेत्र के खिलाडि़यों को खेल के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ उन्हें पर्याप्त अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से ग्रामीण क्षेत्र खेल अभ्यास योजना प्रारंभ की गई है। इसके तहत प्रत्येक विकासखण्ड के तीन-तीन ग्राम पंचायतों में खेल अभ्यास केन्द्र स्थापित किए जा रहे हैं। राज्य में विश्वस्तरीय खेल अधोसंरचनाओं का निर्माण किया गया है। शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम परसदा नया रायपुर विश्वस्तरीय अधोसंरचना का उत्कृष्ठ उदाहरण है। यह क्रिकेट स्टेडियम भारत का दूसरा सबसे बड़ा स्टेडियम है, जिसकी दर्शक क्षमता 60 हजार है। इस स्टेडियम में 04 आई0पी0एल0 एवं 08 चैम्पियन्स लीग टी-20 के मैचों का सफल आयोजन हुआ है। बी0सी0सी0आई0 के द्वारा शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के पिच को सर्वोत्तम पिच (मैदान) का अवार्ड प्रदाय किया गया है। अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम का निर्माण राजनांदगांव एवं रायपुर में किया गया है। इसमें पोलीग्रास एवं नीले रंग के हॉकी सिंथेटिक सतह लगाए गए हैं। अंतर्राष्ट्रीय हॉकी फेडेरेशन द्वारा इन मैदानों को विश्वस्तरीय प्रतियेागिताओं हेतु प्रमाणित किया है। अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम रायपुर में हॉकी वल्र्ड लीग मेन्स फायनल राउण्ड नवम्बर-दिसम्बर 2015 में आयोजित की गई है | बिलासपुर में राज्य का बृहद खेल प्रशिक्षण केन्द्र का निर्माण किया जा रहा है। इस वृहद खेल अधोसंरचना में आऊटडोर स्टेडियम, इण्डोर स्टेडिमय, एथलेटिक ट्रैक, सिंथेटिक सतह का हॉकी मैदान एवं इण्डोर गेम्स हेतु इण्डोर हॉल का निर्माण किया जा रहा हैं रायपुर में अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम के नजदीक पृथक विश्वस्तरीय हॉकी प्रैक्टिस पिच (सिंथेटिक सतह) का निर्माण किया गया है । राज्य शासन द्वारा विभिन्न खेलों के 181 उत्कृष्ठ खिलाड़ी घोषित किए गए हैं, जिनमें से वर्ष 2015-16 तक कुल 64 खिलाडि़यों को राज्य सरकार द्वारा शासकीय नौकरी दी जा चुकी है। मुख्यमंत्री युवा भारत दर्शन योजना के तहत बस्तर संभाग एवं राजनांदगांव के युवाओं को भारत के विभिन्न ऐतिहासिक एवं दार्शनिक स्थलों का भ्रमण कराया गया है। आगामी अवसरों पर बस्तर एवं सरगुजा संभाग के 11 से 17 वर्ष के बच्चों को उनके माता/पिता/अभिभावक के साथ देश के ऐतिहासिक धरोहरों के दर्शन कराए जाएंगे। राज्य सरकार द्वारा 29 अगस्त राष्ट्रीय खेल दिवस के शुभ अवसर पर राज्य के पदक प्राप्त खिलाडि़यों, प्रशिक्षकों एवं निर्णायकों को खेल अलंकरण सम्मान एवं नगद राशि पुरस्कार प्रदाय की जाती है। राज्य सरकार द्वारा खिलाडि़यों को दिए जाने वाले पुरस्कार राशि के मामले में छत्तीसगढ़ राज्य प्रथम पायदान पर है। प्रदेश में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विभाग द्वारा प्रदेश में संचालित विभिन्न राज्य खेल संघ, जिला खेल संघ एवं अशासकीय खेल संगठनों को आर्थिक सहायता (अनुदान) प्रदाय की जाती है। राज्य के युवाओं को साहसिक गतिविधियों के माध्यम से राज्य के विभिन्न पर्यटन स्थ्लों एवं विषम भौगोलिक परिस्थिति वाले दुर्गम एडवेंचरर्स स्थलों में राज्य के साहसिक गतिविधियों में शामिल करयुवाओं को हौसला बढ़ाने एवं विषम परिस्थितियों से निकलने के लिए विशेष ट्रेनर के माध्यम से प्रशिक्षित कराया गया है। 35 वें राष्ट्रीय खेल केरल 2015 में राज्य के खिलाडि़यों ने 10 पदक प्राप्त किए हैं। आगामी 36 वां राष्ट्रीय खेल गोवा के लिए खिलाडि़यों को अधिक से अधिक पदक प्राप्त हो, ऐसा प्रयास किया जा रहा है। 37वें राष्ट्रीय खेल की मेजबानी छत्तीसगढ़ को प्राप्त हुई है। भारत सरकार एवं भारतीय ओलम्पिक संघ के मापदण्डों के आधार पर 37वें राष्ट्रीय खेल के आयोजन हेतु राज्य में विभिन्न विश्वस्तरीय खेल अधोसंरचनाओं के विकास के कार्य किए जा रहे हैं।